मेरे आगे की दुनिया: अनुभूति और अभिव्यक्ति

सवाल यह है कि हम क्या कहना चाहते हैं, क्या वे इसे वैसा ही कह सकते हैं जैसा वे कहना चाहते थे! क्या ऐसा नहीं है कि यह कहने के बाद कि ऐसा लगता है कि जैसा हम कह रहे थे वैसा हम नहीं कर पाए। इस ‘मिसिंग लिंक’ का अर्थ है कि भुला दिए […]