जीवन की जीत: ITBP के जवानों को सलाम जिन्होंने 16 लोगों को मौत के घाट उतार दिया!  चीन हिमालय की गोद में बैठे इस अर्धसैनिक बल के साथ भी भोजन करता है

जीवन की जीत: ITBP के जवानों को सलाम जिन्होंने 16 लोगों को मौत के घाट उतार दिया! चीन हिमालय की गोद में बैठे इस अर्धसैनिक बल के साथ भी भोजन करता है

पूरा देश भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के जवानों को बर्फीले पहाड़ों पर हजारों फीट की ऊंचाई पर देश की सीमाओं की रखवाली कर रहा है। उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर के टूटने से हुई तबाही के बाद आईटीबीपी के जवान वहां फंसे लोगों को निकाल रहे हैं। जोशीमठ मलेरिया राजमार्ग पर बीआरओ पुल भी पूरी तरह से नष्ट हो गया है। जवानों ने अब तक एक मुश्किल ऑपरेशन के कारण 16 लोगों को मौत के घाट उतार दिया है।

हिमालय की गोद में बैठे इन जवानों से चीन भी हैरत में है। भारत-चीन सीमा संघर्ष के दौरान 24 अक्टूबर 1962 को ITBP का गठन किया गया था। तब से, भारत-चीन सीमा पर सुरक्षा के लिए ITBPs तैनात किए गए हैं। बल का उच्चतम चौकी 18, 800 फीट पर स्थित है और कई सीमा चौकियों पर तापमान शून्य से 45 डिग्री नीचे चला जाता है। आईटीबीपी देश की प्रमुख अर्धसैनिक बल है। इस बल के सैनिक अपने मजबूत प्रशिक्षण और पेशेवर कौशल के लिए जाने जाते हैं और किसी भी स्थिति और चुनौती का सामना करने के लिए हर समय तैयार रहते हैं।

पूरे वर्ष हिमालय की गोद में बर्फ से ढके आगे के पदों पर रहकर देश की सेवा करना उनका मूल कर्तव्य है, इसलिए उन्हें ‘हिमवीर’ के नाम से भी जाना जाता है। वर्तमान में, ITBP में कुल 56 सेवा बटालियन, 4 विशेष बटालियन और 17 प्रशिक्षण केंद्र हैं। आईटीबीपी के लगभग 90000 सैनिक देश की सेवा कर रहे हैं। वर्ष 2004 के बाद, भारत और चीन के बीच 3488 किलोमीटर सीमा की सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी ITBP के कंधों पर है।

पाकिस्तान के साथ 1971 के युद्ध में, इसके दो प्लाटून ने श्रीनगर और पुंछ क्षेत्र में घुसपैठियों के ठिकानों के कई क्षेत्रों की पहचान / पता लगाने और उन्हें नष्ट करने का विशेष कार्य किया। इस अभियान के लिए उन्हें काफी सराहना मिली। 1978 में, नेशनल ऑर्डर्स ने अपनी मूल प्रकृति को बदलते हुए, बलों की भूमिका को फिर से परिभाषित किया। यह एक बहुआयामी बल बनाने के लिए विविध कार्यों को सौंपा गया था।

हिंदी समाचार के लिए हमारे साथ शामिल फेसबुक, ट्विटर, लिंकडिन, तार सम्मिलित हों और डाउनलोड करें हिंदी न्यूज़ ऐप। अगर इसमें रुचि है



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

महाराष्ट्र बजट: कृषि ऋण चुकाने पर ब्याज नहीं लगेगा- वित्त मंत्री की घोषणा

महाराष्ट्र बजट: कृषि ऋण चुकाने पर ब्याज नहीं लगेगा- वित्त मंत्री की घोषणा

महाराष्ट्र बजट: वर्ष 2021-22 का बजट सोमवार को महाराष्ट्र विधानसभा में पेश किया गया। इसे राज्य के वित्त मंत्री अजीत पवार ने पेश किया था। उन्होंने इस दौरान कहा, “किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज (जिसका कोई मतलब नहीं है) के साथ अपने कृषि ऋण को चुकाने की अनुमति होगी। ब्याज की दर सरकार द्वारा वहन […]

आज 75 लाख रुपये की लॉटरी होगी, आप यहां चेक कर सकेंगे

आज 75 लाख रुपये की लॉटरी होगी, आप यहां चेक कर सकेंगे

केरल लॉटरी विन-विन W-606 आज के परिणाम: केरल लॉटरी विभाग आज केरल विन विन W-606 का परिणाम जारी करने जा रहा है। परिणाम भी ऑनलाइन जारी किया जाएगा। जिन लोगों ने इस लॉटरी के टिकट खरीदे हैं, वे https://www.keralalotteryresult.net/ पर अपने परिणाम देख सकेंगे। लॉटरी का परिणाम 3 बजे से आना शुरू हो जाएगा। शाम […]