उत्तराखंड में तबाही के बाद, पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट, गंगा के जल स्तर की निगरानी का फरमान जारी

उत्तराखंड में तबाही के बाद, पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट, गंगा के जल स्तर की निगरानी का फरमान जारी

उत्तराखंड के जोशीमठ में एक बड़ा हादसा हुआ है। चमोली जिले के रैनी गांव में रविवार को एक ग्लेशियर के फटने से धौली गंगा नदी बह गई। इससे चमोली से लेकर हरिद्वार तक खतरा बढ़ गया है। इसे ध्यान में रखते हुए, पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में एक हाई अलर्ट जारी किया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में गंगा नदी के तट पर पड़ने वाले सभी जिलों के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षकों को पूरी तरह से अलर्ट रहने का निर्देश दिया है।

सीएम योगी ने राज्य के संबंधित विभागों और अधिकारियों को अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि स्थिति पर कड़ी नजर रखें और सतर्क रहें। स्थिति को देखते हुए एसडीआरएफ को भी अलर्ट कर दिया गया है। आदित्यनाथ ने बांध टूटने से उत्पन्न परिस्थितियों के मद्देनजर संबंधित विभागों, अधिकारियों और एसडीआरएफ को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने गंगा के किनारे स्थित सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को भी पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि “देवभूमि उत्तराखंड में पैदा हुई प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी”। आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तराखंड में ग्लेशियर के टूटने के कारण भयानक त्रासदी हुई है। पीड़ित परिवारों के प्रति हमारी संवेदना। अलकनंदा गंगा की एक सहायक नदी है और गंगा उत्तर प्रदेश के अंदर लगभग 1,000 किलोमीटर की यात्रा करती है। हमने अपने जल विद्युत विभाग को सतर्क कर दिया है।

दूसरी ओर, बिजनौर जिले के सोशल मीडिया सेल ने गंगा नदी के बाढ़ की संभावना व्यक्त की है। निर्देश जारी करते हुए कहा गया है कि गंगा नदी के आसपास के ग्रामीणों को सलाह दी जाती है कि वे नदी के किनारे न जाएं और सतर्क रहें।

यूपी के गंगा सीमावर्ती जिलों उन्नाव, कन्नौज, बिजनौर, फतेहगढ़, प्रयागराज, कानपुर, मिर्जापुर, गढ़मुक्तेश्वर, गाजीपुर और वाराणसी में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। अलर्ट का आदेश आते ही अधिकारियों ने गंगा किनारे बसे गांव का दौरा शुरू कर दिया। बताया जा रहा है कि शाम तक कई लाख क्यूसेक पानी गंगा में बढ़ सकता है। बता दें कि जोशीमठ में ग्लेशियर फटने से बांध टूट गया है, जिससे धौली नदी में बाढ़ आ गई है। हादसे में कई लोग बह गए हैं।

हिंदी समाचार के लिए हमारे साथ शामिल फेसबुक, ट्विटर, लिंकडिन, तार सम्मिलित हों और डाउनलोड करें हिंदी न्यूज़ ऐप। अगर इसमें रुचि है



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

असम में बीजेपी को बड़ा झटका, मंत्री सुम रोंगहांग कांग्रेस में शामिल

असम में बीजेपी को बड़ा झटका, मंत्री सुम रोंगहांग कांग्रेस में शामिल

असम सरकार के पूर्व मंत्री सुम रोंगहांग कांग्रेस में शामिल होने के लिए भाजपा छोड़ रहे हैं (फोटो- ट्विटर / असमबाचा) ।

बिहार: हाथ में ऑक्सीजन सिलेंडर और मासूम के साथ अस्पताल का चक्कर लगाती माँ

बिहार: हाथ में ऑक्सीजन सिलेंडर और मासूम के साथ अस्पताल का चक्कर लगाती माँ

बिहार में स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर सरकार की ओर से लगातार दावे किए जा रहे हैं। लेकिन समस्तीपुर सदर अस्पताल से एक चौंकाने वाली तस्वीर सामने आई है। अस्पताल का एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक मासूम लड़की के परिजन ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ अस्पताल में इधर-उधर भटकते नजर आ रहे हैं। वीडियो में […]