लाल ग्रह से पहला संदेश ... यहां सब कुछ ठीक है

लाल ग्रह से पहला संदेश … यहां सब कुछ ठीक है

नासा ने सोशल मीडिया के माध्यम से पूरी दुनिया को दोनों तस्वीरें दिखाईं। इतना ही नहीं, पहली बार किसी अन्य ग्रह पर पहुंचे इंजीनियर हेलीकॉप्टर ने भी नासा को अपनी पहली रिपोर्ट भेजी है। इसमें हेलीकॉप्टर ने बताया कि मंगल ग्रह की सतह पर उतरने के बाद सब कुछ ठीक है। रिपोर्ट में रात के तापमान को 90 डिग्री सेल्सियस से कम बताया गया है।

पर्सिविंस रोवर ने 820 फुट गहरे गड्ढे पर जाजिरो नामक लैंडिंग की। वहां से अपनी पहली सेल्फी दुनिया के साथ साझा की। परसेप्शन रोवर के सोशल मीडिया अकाउंट से मंगल की फोटो और सेल्फी जारी की गई है। इसमें लिखा है, ‘हैलो वर्ल्ड, मेरा हमेशा के लिए घर से मेरा पहला लुक।’ एक अन्य पोस्ट में लिखा है, ‘मेरे पीछे एक और दृश्य देखा जाता है।

JZero में आपका स्वागत है। ‘पर्क्यूशन रोवर ने भारतीय समय के अनुसार गुरुवार और शुक्रवार को लगभग दो बजे मंगल की सबसे खतरनाक सतह जाजिरो क्रेटर पर लैंडिंग की। रोवर लाल ग्रह से रॉक नमूने भी लाएगा। छह पहियों वाले रोबोट ने सात महीनों में 47 मिलियन किलोमीटर की यात्रा पूरी की और तेजी से अपने लक्ष्य तक पहुंच गया।

वैज्ञानिकों के अनुसार, जाज़ीरो क्रेटर मंगल की सतह है, जहाँ कभी एक विशाल झील थी। वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि अगर मंगल ग्रह पर कभी जीवन था, तो इसके संकेत यहाँ जीवाश्मों के रूप में मिलेंगे। परसेप्शन रोवर और इंजीनियर हेलीकॉप्टर मंगल पर कार्बन डाइऑक्साइड से ऑक्सीजन बनाने का काम करेंगे। जमीन के नीचे जीवन संकेतों के अलावा, यह पानी की खोज भी करेगा और उनकी जांच करेगा। इसका मार्स एनवायर्नमेंटल डायनामिक्स एनालाइजर मौसम और जलवायु का अध्ययन करेगा।

Perceived रोवर का वजन 1000 किलोग्राम है। यह परमाणु ऊर्जा से चलेगा। पहली बार, प्लूटोनियम का उपयोग रोवर में ईंधन के रूप में किया जा रहा है। यह रोवर मंगल पर 10 साल तक काम करेगा। इसमें सात फुट का रोबोटिक आर्म, 23 कैमरे और एक ड्रिल मशीन है। वहीं, हेलीकॉप्टर का वजन दो किलोग्राम है।

इस अभियान से भारत को भी उच्च उम्मीदें हैं। 30 सितंबर 2014 को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और US NASA के बीच एक समझौता हुआ। इस समझौते में पृथ्वी और मंगल ग्रह के मिशन के बारे में एक साथ बात हुई थी। उस समय इसरो का नेतृत्व डॉ। के राधाकृष्णन कर रहे थे और नासा का नेतृत्व चार्ल्स बोल्डेन कर रहे थे।

दोनों वैज्ञानिकों ने टोरंटो में अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष यात्री कांग्रेस में भाग लेने के लिए अलग से मुलाकात की। दोनों ने घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किए थे। इसके बाद नासा और इसरो ने ‘नासा-इसरो मार्स वर्किंग ग्रुप’ का गठन किया। इसका उद्देश्य दोनों देशों की संस्थाओं के बीच आपसी सहयोग को बढ़ावा देना था। इसके अलावा, ‘नासा-इसरो सिंथेटिक एपर्चर रडार मिशन’ के लिए एक आपसी समझौता हुआ।

इसरो और नासा 2022 में उपग्रह को प्रक्षेपित करने की योजना पर काम कर रहे हैं। यह उपग्रह प्राकृतिक आपदाओं से सावधान करेगा। यह दुनिया का सबसे महंगा ‘अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट’ होगा। इसकी संभावित लागत लगभग 10 हजार करोड़ आ रही है। भारत अपने मंगलयान -2 की तैयारी कर रहा है। इसके लिए नासा के मार्स परसेप्शन रोवर की जानकारी उपयोगी होगी।

नासा द्वारा मंगल पर भेजे गए पर्क्यूशन मार्स रोवर इंजीनियर हेलीकॉप्टर अपनी छाप छोड़ चुके हैं। रोवर ने मंगल पर सबसे खतरनाक सतह जाजिरो क्रेटर पर लैंडिंग की। इस धरातल पर कभी-कभी पानी आता था। रोवर लाल ग्रह से रॉक नमूने भी लाएगा। रोवर और इंजीनियर हेलीकॉप्टर मंगल पर कार्बन डाइऑक्साइड से ऑक्सीजन का उत्पादन करने के लिए काम करेंगे। नासा भारत को इस मिशन के बारे में जानकारी भी प्रदान करेगा, जिसका उपयोग इसरो अपने मंगलयान -2 मिशन की तैयारी में करेगा।

नासा द्वारा मंगल पर भेजे गए पर्क्यूशन मार्स रोवर इंजीनियर हेलीकॉप्टर अपनी छाप छोड़ चुके हैं। रोवर ने मंगल पर सबसे खतरनाक सतह जाजिरो क्रेटर पर लैंडिंग की। इस धरातल पर कभी-कभी पानी आता था। रोवर लाल ग्रह से रॉक नमूने भी लाएगा। रोवर और इंजीनियर हेलीकॉप्टर मंगल पर कार्बन डाइऑक्साइड से ऑक्सीजन का उत्पादन करने के लिए काम करेंगे। नासा भारत को इस मिशन के बारे में जानकारी भी प्रदान करेगा, जिसका उपयोग इसरो अपने मंगलयान -2 मिशन की तैयारी में करेगा।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

3 साल का बच्चा फटे पेट के साथ निकला - पिता का आरोप, मौत

3 साल का बच्चा फटे पेट के साथ निकला – पिता का आरोप, मौत

कौशाम्बी जिले के पिपरी थाना क्षेत्र के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान तीन साल की बच्ची की मौत के मामले में पुलिस ने शनिवार को एक डॉक्टर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समर बहादुर सिंह ने बताया कि केशली नाम की तीन साल की लड़की, प्रयागराज के निवासी मुकेश मिश्रा, […]

पुरानी बाइक यहां 30 हजार से 40 हजार रुपये में पाएं, जानिए पूरी डिटेल

पुरानी बाइक यहां 30 हजार से 40 हजार रुपये में पाएं, जानिए पूरी डिटेल

भारतीय बाजार में पुरानी बाइक्स की काफी मांग है। कई लोग अपनी जरूरतों के लिए बाइक खरीदते हैं। बाजार में कई विकल्प उपलब्ध हैं जिनके माध्यम से पुरानी बाइक खरीदी जा सकती है। ऐसे में, जब कोई पहली बार पुरानी बाइक खरीदने की सोचता है, तो उसके मन में कई सवाल जरूर आते हैं। ग्राहक […]