रिहाना मुद्दे पर कांग्रेस और भाजपा प्रवक्ता के बीच गरमागरम बहस

रिहाना मुद्दे पर कांग्रेस और भाजपा प्रवक्ता के बीच गरमागरम बहस

भाजपा सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा पर निशाना साधते हुए कहा कि वह बारबाडोस को बहुत पसंद करते हैं। रिहाना का टीयर अच्छा लग रहा है लेकिन लता मंगेशकर की गड़बड़ गलत लगती है। उन्होंने कहा कि बहुत से लोग नहीं जानते कि रिहाना बारबाडोस से है। रिहाना की आबादी केवल तीन लाख है। यानी दिल्ली का एक विधानसभा क्षेत्र।

पवन खेड़ा ने कहा कि मोदी जी से पूछिए कि उन्होंने कपड़े बनाने वाले को तेल ड्रिलिंग का काम क्यों दिया। क्यों बर्बाद हुआ ONGC खेड़ा ने कैग रिपोर्ट 2016 पर अपनी प्रतिक्रिया मांगी। उन्होंने कहा कि मोदी जी के भ्रष्टाचार पर जवाब दें। अपने को स्थापित मत समझो। जिस तरह से आप चल रहे हैं, जल्द ही आपको अपनी जमीनी हकीकत का पता चल जाएगा।

भाजपा सांसद ने कहा कि पवन खेड़ा को बताना चाहिए कि बारबाडोस की राजधानी क्या है। दोनों के बीच कार्यक्रम में तीखी झड़प हुई। कई बार एंकर ने दोनों के बीच शांति बहाल करने की कोशिश की, लेकिन दोनों एक-दूसरे को कसते रहे। सुधांशु ने कहा कि 2024 में उनकी खुद की सरकार बनने जा रही थी। आप चाहे जितना भी चाहें, देश की जनता को मोदी जी का समर्थन है।

गौरतलब है कि अमेरिकी पॉप गायिका रिहाना एक बार फिर किसान आंदोलन को लेकर किए गए एक ट्वीट के बाद सुर्खियों में हैं। अब भारत में रिहाना की एक तस्वीर विवादित हो रही है। दरअसल, इस फोटो में रिहाना टॉपलेस हैं और भगवान गणेश की आकृति की एक लटकन उनके गले में दिखाई दे रही है।

रिहाना की यह तस्वीर एक लॉन्ग फोटोशूट के दौरान की है। रिहाना ने यह फोटोशूट अपने लॉन्जरी ब्रांड सैवेज एक्स फेंटी के लिए करवाया है। उन्होंने इस फोटो को अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर शेयर किया है। भारत में इसका कड़ा विरोध हो रहा है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

साल का पहला ग्रहण कब लगने वाला है?  जानिए भारत में ग्रहण को लेकर क्या मान्यताएं हैं

साल का पहला ग्रहण कब लगने वाला है? जानिए भारत में ग्रहण को लेकर क्या मान्यताएं हैं

चंद्रग्रहण 2021: भारत में ग्रहण को लेकर अलग-अलग तरह की मान्यताएं हैं। यह खगोलीय घटना विज्ञान के लिए जितनी महत्वपूर्ण है, ज्योतिष के अनुसार उसका महत्व भी है। ज्योतिष के अनुसार, ग्रहण का प्रभाव सभी मनुष्यों के जीवन पर कुछ न कुछ होता है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, ग्रहण का संबंध राहु केतु से है। […]

जया का किशोर बचपन कैसा था?  जानिए उनका अपना

जया का किशोर बचपन कैसा था? जानिए उनका अपना

जया किशोरी जीवनी: कम उम्र में अपने लिए अध्यात्म का रास्ता चुनने वाली कहानीकार जया किशोरी (जया किशोरी जी) आज बहुत लोकप्रिय हैं। जिनके भक्त देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मौजूद हैं। जया किशोरी सोशल मीडिया पर भी बहुत सक्रिय हैं और किसी न किसी दिन कुछ प्रेरणादायक वीडियो पोस्ट करती रहती […]