खिलाड़ियों की बोली में बैग कौन भरेगा

खिलाड़ियों की बोली में बैग कौन भरेगा

इसके साथ ही घरेलू मैदान पर इंडियन प्रीमियर लीग के आयोजन की उम्मीद है। क्रिकेट की सबसे बड़ी प्रीमियर लीग के 14 वें सीजन के लिए गुरुवार को चेन्नई में नीलामी होगी। इसमें 292 खिलाड़ियों के भाग्य का फैसला होगा। 61 खिलाड़ी अपनी टीम में शामिल करने के लिए मताधिकार के लिए बोली लगा सकते हैं।

13 वें सीज़न की नीलामी प्रक्रिया 19 दिसंबर 2019 को हुई थी जिसमें 73 स्लॉट्स के लिए 332 खिलाड़ियों ने बोली लगाई थी। इस बार की नीलामी को ‘मिनी नीलामी’ कहा जा रहा है क्योंकि कई टीमों के पास खिलाड़ियों पर बोली लगाने के लिए ज्यादा पैसा नहीं है, इसलिए इस प्रक्रिया से अधिकांश बड़े खिलाड़ियों का नाम गायब है। लगभग सभी टीमों ने अपने बड़े खिलाड़ियों को बरकरार रखा है। आइए जानते हैं कि इस बार की नीलामी में और क्या खास है।

128 विदेशी खिलाड़ी

बीसीसीआई ने नीलामी के लिए जारी अंतिम सूची में 292 खिलाड़ियों को रखा है। इनमें 128 विदेशी खिलाड़ी हैं। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी इस बार भी सूची में हावी हैं। इस सूची में कुल 35 कंगारू खिलाड़ी हैं। इसके बाद न्यूजीलैंड के 20 खिलाड़ी और वेस्टइंडीज के 19 खिलाड़ी उपलब्ध होंगे। अमेरिका, नेपाल और यूएई का एक-एक खिलाड़ी इस सूची में जगह बनाने में कामयाब रहा।

कुछ बड़े खिलाड़ी नीलामी के लिए भी उपलब्ध हैं

आईपीएल टीमों ने ‘बड़े नाम और छोटे दर्शन’ वाले खिलाड़ियों को बरकरार नहीं रखा है। उन्हें नीलामी में अपने भविष्य का इंतजार रहेगा। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्टीव स्मिथ, जो राजस्थान रॉयल्स के कप्तान थे, भी उन बड़े नामों में शामिल हैं। इसके अलावा, ग्लेन मैक्सवेल, आरोन फिंच, एलेक्स कैरी और मैथ्यू वेड जैसे दिग्गज खिलाड़ी भी नीलामी में अपनी किस्मत आजमाएंगे।

कुछ भारतीय खिलाड़ी भी नीलामी में भाग ले रहे हैं। उनके पास बड़े नाम हैं इसलिए उन्होंने अपना आधार मूल्य दो करोड़ रुपये रखा है। साथी गेंदबाज हरभजन सिंह और आलराउंडर केदार जाधव इस सूची में हैं। इंग्लैंड के मोइन अली, सैम बिलिंग्स, लियाम प्लेंकेट, जैसन रॉय और मार्क वुड भी 20 मिलियन बेस प्राइस के साथ नीलामी प्रक्रिया में भाग ले रहे हैं।

सूची जारी होते ही विवाद

नीलामी के लिए चुने गए खिलाड़ियों की सूची जारी होते ही विवाद छिड़ गया। बीसीसीआई पर प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की अनदेखी करने का आरोप लगाया गया था। ऐसा नहीं था कि पुनीत बिष्ट और आशुतोष अमन जैसे होनहार खिलाड़ियों के नाम सूची में शामिल थे, जबकि नयन दोशी और सादिक किरमानी का नाम था। अमन बिहार क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं।

34 वर्षीय के पास घरेलू क्रिकेट में कई रिकॉर्ड हैं। हाल ही में खेले गए सैयद मुश्ताक टूर्नामेंट में उनके नाम सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड था। 2018-19 के रणजी सत्र में आशुतोष ने 68 विकेट लिए। दूसरी ओर पुनीत ने सिर्फ पांच मैचों में 204 रन बनाए। इन दोनों खिलाड़ियों के नाम सूची से बाहर हैं। किरमानी ने ढाई साल तक कोई टी 20 मैच नहीं खेला है। सावल भी दोशी की वापसी को लेकर उठ रहे हैं। उनकी उम्र 42 साल है। रिटायरमेंट की उम्र में आईपीएल में खेलना, किसी के लिए भी आश्चर्य की बात है।

चयन से पहले भी
विवाद खत्म हो गया है

आईपीएल में चयन को लेकर भी विवाद हुआ है। कई खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्हें फ्रेंचाइजी खरीदती है लेकिन उन्हें मैदान पर उतरने का मौका नहीं मिलता है। ऐसा ही एक बड़ा नाम लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव भी कई सीजनों के लिए दिल्ली डेयरडेविल्स टीम का हिस्सा थे, लेकिन उन्हें मैदान पर उतरने का मौका नहीं मिला। इसी तरह 2019 में, कुमार मंगलम बिड़ला के बेटे आर्यमान भी राजस्थान की टीम में शामिल हुए, लेकिन उन्हें मुख्य एकादश में जगह नहीं मिली।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

कोरोना वैक्सीन पर भारत की सफलता को चीन पचा नहीं सका

कोरोना वैक्सीन पर भारत की सफलता को चीन पचा नहीं सका

चीन के एक हैकिंग ग्रुप ने हाल के हफ्तों में दो भारतीय वैक्सीन निर्माताओं के आईटी सिस्टम को निशाना बनाया है। भारत में टीकाकरण अभियानों में किसके कोरोनो वायरस के टीके का उपयोग किया जा रहा है। साइबर खुफिया फर्म Cyfirma ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को सूचित किया। चीन और भारत ने कई देशों को […]

हरियाली क्रांति टीम की मजबूत पहल, इम्का की मदद से पत्रकारों को जोड़ने का दिया अनोखा संदेश

हरियाली क्रांति टीम की मजबूत पहल, इम्का की मदद से पत्रकारों को जोड़ने का दिया अनोखा संदेश

IIMC के एलुमनाई एसोसिएशन के वार्षिक मीट कनेक्शन भारतीय जनसंचार संस्थान, नई दिल्ली के प्रांगण में आयोजित किए गए थे। इस बार इमका कनेक्शन हर साल से अलग था। इस आयोजन के संदर्भ में, सबसे महत्वपूर्ण बात यह थी कि पहले जहां सांस्कृतिक कार्यक्रम मनाए जाते थे, वहीं इस बार हरियाली बढ़ाने के लिए एक […]