यही स्थिति उस विभाग में होगी जिसमें 18 मंत्री होंगे - टिकैत ने कृषि मंत्रालय पर कहा

यही स्थिति उस विभाग में होगी जिसमें 18 मंत्री होंगे – टिकैत ने कृषि मंत्रालय पर कहा

किसान नेता राकेश टिकैत ने कृषि विभाग की आलोचना की और कहा कि एक ही विभाग में 18 मंत्री होंगे। टिकैत ने कहा कि किसानों और खेती दोनों को बचाने के लिए कृषि से जुड़े 18 विभागों को एक जगह जोड़ना बहुत जरूरी है। इससे किसान को फायदा होगा। सरकार को एक ही स्थान पर खेती से जुड़े विभिन्न विभागों को जोड़कर कृषि कैबिनेट बनाना होगा।

किसानों के पास अपना आंदोलन चलाने के लिए तीन महीने का समय है, लेकिन अभी तक सरकार उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दे रही है। सरकार के साथ किसानों के 11 दौर हो चुके हैं। टिकैत ने कहा कि कृषि कानूनों से किसान और खेती को कोई लाभ नहीं होगा। आने वाला समय भूख के हिसाब से फसल की कीमत तय करेगा। यदि सरकार के तीन कृषि कानूनों को लागू किया जाता है, तो भूख पर व्यापार होगा। उन्होंने कहा कि लड़ाई को तोड़ने और कमजोर करने के लिए, किसानों को हरियाणा, पंजाब, यूपी और जातिगत मतभेदों को बांटने की कोशिश की जाएगी, लेकिन सभी किसान एकजुट हैं।

टिकैत ने कहा कि सरकार पहले किसान आंदोलन को खालिस्तानियों के रूप में वर्णित कर रही थी। तब इसे सिखों का आंदोलन कहा जाता था और अब वे इसे जाटों का आंदोलन कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं को यहां आना चाहिए और देखना चाहिए कि यह आंदोलन किसका है। रेल चक्का कार्यक्रम के बारे में बात करते हुए टिकैत ने कहा कि यह प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से किया जाएगा और अगर कोई हिंसा के बारे में बात करता है, तो वे इसका इलाज करेंगे।

गौरतलब है कि किसानों की सरकार के साथ 11 दौर की बैठकें हो चुकी हैं। सड़क से संसद तक गरमागरम बहस के बाद भी ऐसा नहीं हुआ, किसानों ने अब आंदोलन को बंगाल की ओर मोड़ दिया है। इस बंगाल चलो को महापंचायत के मंच से बुलाया जा रहा है। आंदोलनकारी किसानों ने समर्थन नहीं करने वालों के खिलाफ वोट की अपील की है। टिकैत ने कहा है कि बंगाल में किसान पंचायतों का संचालन करेंगे। वहीं, एक अन्य किसान नेता गुरनाम सिंह चढुनी ने कहा है कि भाजपा हार जाएगी, तभी आंदोलन की जीत होगी।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

पहले मजाक फिर नजीर

पहले मजाक फिर नजीर

चीन के साथ भारत का संबंध इन दिनों कई कारणों से विवादित है। इस कारण से, हमारे देश के इस पड़ोसी को देखने का हमारा दृष्टिकोण भी तेजी से बदल गया है। कोविद -19 ने बड़ा बदलाव किया है, खासकर चीन की ओर। दिलचस्प बात यह है कि भारत इस देश के प्रति अपनी राय […]

कांग्रेस के प्रवक्ता अब्बास सिद्दीकी के खिलाफ 23 दिग्गजों ने किया हंगामा

कांग्रेस के प्रवक्ता अब्बास सिद्दीकी के खिलाफ 23 दिग्गजों ने किया हंगामा

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भारतीय सेक्युलर मोर्चा (ISF) के साथ कांग्रेस के जाते ही विवाद बढ़ता जा रहा है। राजनीतिक विशेषज्ञ भी इस बात से हैरान हैं। कई लोगों का कहना है कि कांग्रेस पार्टी को लगता है कि आईएसएफ के साथ जाने से मुस्लिम वोट मिलेंगे। हालांकि, पार्टी के भीतर भी मतभेद हैं। […]