जानें-जानें: संविधान शांतिपूर्ण प्रदर्शन का अधिकार देता है

जानें-जानें: संविधान शांतिपूर्ण प्रदर्शन का अधिकार देता है

संविधान के अनुच्छेद 19 (1) (बी) के अनुसार, नागरिकों को शांतिपूर्वक और बिना हथियारों के फ्रीज करने का अधिकार है। पिछले कुछ वर्षों में, सुप्रीम कोर्ट लगातार ऐसे मामलों पर कहता रहा है कि शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन करना किसी भी नागरिक का मौलिक अधिकार है। कार्यकारी या न्यायपालिका उनसे यह अधिकार नहीं छीन सकती है।

मौलिक अधिकारों के तहत इसके उपयोग के साथ, यह भी आवश्यक है कि कानूनों का उल्लंघन न हो। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार संविधान के अनुच्छेद 19 (1) (ए) में दिया गया है। इसी समय, इस अनुच्छेद 19 (1) (ई) के तहत, नागरिकों को भी अपनी मांगों के समर्थन में शांतिपूर्ण विरोध के लिए जगह इकट्ठा करने का अधिकार है।

विरोध में कोई हिंसा नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा, प्रदर्शन के लिए पूर्व अनुमति आवश्यक है। इसे लेकर अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग व्यवस्था की गई है। हालांकि, कुछ नियमों और विनियमों का ध्यान रखना महत्वपूर्ण है। उदाहरण के लिए, धरना प्रदर्शन से पहले पुलिस या प्रशासन की अनुमति और अनापत्ति प्रमाणपत्र की आवश्यकता होती है।

पुलिस या प्रशासन क्षेत्र की शांति के लिए खतरे, तनाव या हिंसा की संभावना से इनकार कर सकता है। पुलिस को धरना प्रदर्शन का उद्देश्य, स्थान, तिथि, समय-सीमा, लोगों की संख्या आदि बताना आवश्यक है। साधक को पहचान, नाम, पता आदि के लिए आवश्यक दस्तावेज, फोटो और मोबाइल नंबर देना आवश्यक है।

संविधान के अनुच्छेद 19 (1) (3) में विशेष परिस्थितियों में उस पर कई तरह के प्रतिबंध लगाने का भी प्रावधान है। उदाहरण के लिए, राज्य या राष्ट्र की सुरक्षा और देश की एकता और अखंडता को खतरा है। सामान्य जनजीवन प्रभावित होने का खतरा है। अदालत की अवमानना ​​की स्थिति में और अगर पड़ोसी देशों के साथ संबंध प्रभावित होते हैं तो विरोध प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

टीवी डिबेट में कांग्रेस प्रवक्ता पर एंकर गर्म हो गया

टीवी डिबेट में कांग्रेस प्रवक्ता पर एंकर गर्म हो गया

पिछले 100 दिनों से देश भर के किसान दिल्ली से सटे सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं। किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच 12 से अधिक दौर की बातचीत के बाद भी कोई हल नहीं निकल पाया […]

बंगाल चुनाव: कांग्रेस ने 13 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की

बंगाल चुनाव: कांग्रेस ने 13 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। पार्टी सीपीएम के नेतृत्व वाले वाम मोर्चे के साथ गठबंधन में राज्य में चुनाव लड़ रही है। गठबंधन में फुरफुरा शरीफ के धार्मिक नेता अब्बास सिद्दीकी का आईएसएफ भी शामिल है। कांग्रेस महासचिव मुकुल वासनिक द्वारा जारी सूची […]