मसूड़ों से रक्तस्राव को अनदेखा न करें, इन 4 गंभीर बीमारियों का संकेत दिया जा सकता है, जानिए

मसूड़ों से रक्तस्राव को अनदेखा न करें, इन 4 गंभीर बीमारियों का संकेत दिया जा सकता है, जानिए

रक्तस्राव मसूड़ों का कारण: कई लोग सुबह ब्रश करते समय मसूड़ों से रक्तस्राव को अनदेखा करते हैं। लेकिन यह एक स्वास्थ्य समस्या का लक्षण भी हो सकता है। आम तौर पर तेजी से ब्रश करने, नकली दांत या कमजोर मसूड़ों के कारण उनमें रक्तस्राव होने लगता है। लेकिन अगर इनमें से किसी का कोई कारण नहीं है, तब भी आपको मसूड़ों से खून आने की समस्या है, तो अपने डॉक्टर से मिलें। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि यह हार्मोनल असंतुलन से किसी भी विटामिन की कमी के कारण हो सकता है। आइए जानते हैं –

विटामिन सी की कमी: शरीर में विटामिन-सी की कमी कई समस्याओं का कारण बनती है। एक अध्ययन के अनुसार, इस महत्वपूर्ण विटामिन की कमी भी मसूड़ों से रक्तस्राव का एक कारण हो सकता है। ऐसी स्थिति में, लोगों को अपने आहार में खट्टे फल और विटामिन-सी सब्जियां शामिल करनी चाहिए। यह मसूड़ों से रक्तस्राव, दर्द और सूजन को कम कर सकता है।

मसूड़े का रोग: अगर मसूड़ों से लगातार खून निकलता है, तो यह उनसे जुड़ी किसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि यह पीरियडोंटाइटिस के कारण हो सकता है। बता दें कि यह मसूड़ों की बीमारी है जो बाद में मसूड़े की सूजन का रूप ले सकती है। यह महत्वपूर्ण है कि लोग दिन में दो बार ब्रश करें और कुल्ला करें। इसके अलावा, मसूड़ों पर किसी चोट लगने या मौखिक स्वच्छता का ध्यान रखने के कारण भी मसूड़ों से खून आने लगता है।

विटामिन-के की कमी: एक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार, जिन लोगों के शरीर में विटामिन-के का स्तर कम होता है, उनके मसूड़ों से खून भी आ सकता है। बता दें कि यह विटामिन रक्त के थक्के बनने की प्रक्रिया के लिए आवश्यक है। ऐसी स्थिति में, इसकी कमी के कारण, शरीर में रक्त अधिक बहता है। इस विटामिन में कीवी, हरी सब्जियां, चुकंदर, गोभी, बीन्स, मटर, अंडे और मछली प्रचुर मात्रा में हैं।

यकृत रोग: लिवर सिरोसिस, जो गंभीर फैटी लिवर रोगियों या अत्यधिक शराब के सेवन का कारण बनता है, इस बीमारी का एक लक्षण है, मसूड़ों से खून आना। इस बीमारी में, जिगर शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को निकालने में सक्षम नहीं होता है। ऐसी स्थिति में, धूम्रपान और शराब से दूर रहें, साथ ही स्वस्थ भोजन रखें, जिसमें फाइबर और तरल पदार्थ प्रचुर मात्रा में हों।

कैंसर: ब्लीडिंग मसूड़ों से भी ल्यूकेमिया की शिकायत होती है। इस बीमारी में, प्लेटलेट्स और आरबीसी कम हो जाते हैं, जिसके कारण रक्त का थक्का नहीं बन पाता है और मसूड़ों से खून निकलने लगता है। इसके अलावा, कीमोथेरेपी के प्रभाव से मसूड़ों से खून भी आ सकता है। आहार में एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं।

मधुमेह इस बीमारी में दांतों में प्लाक की वजह से मुंह में पनपने वाले बैक्टीरिया से लड़ने की मरीजों की क्षमता कम हो जाती है। इसके कारण मसूड़ों से खून भी आ सकता है। कम जीआई वाले खाद्य पदार्थ खाएं।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

किसान रैली में बैलगाड़ी लेकर पहुंचे कांग्रेस नेता, बैल ने लात मारी और जमीन पर गिरा

किसान रैली में बैलगाड़ी लेकर पहुंचे कांग्रेस नेता, बैल ने लात मारी और जमीन पर गिरा

देश भर में केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों का विरोध है। किसान संगठनों के अलावा विपक्षी राजनीतिक दल भी विरोध में शामिल हो गए हैं। कई राजनीतिक दल अलग-अलग जगहों पर किसान महापंचायत का आयोजन कर रहे हैं। पिछले दिनों उत्तर प्रदेश की कांग्रेस की ओर उत्तर प्रदेश में किसान सम्मेलन बुलाया गया […]

कोरोना वैक्सीन पर भारत की सफलता को चीन पचा नहीं सका

कोरोना वैक्सीन पर भारत की सफलता को चीन पचा नहीं सका

चीन के एक हैकिंग ग्रुप ने हाल के हफ्तों में दो भारतीय वैक्सीन निर्माताओं के आईटी सिस्टम को निशाना बनाया है। भारत में टीकाकरण अभियानों में किसके कोरोनो वायरस के टीके का उपयोग किया जा रहा है। साइबर खुफिया फर्म Cyfirma ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को सूचित किया। चीन और भारत ने कई देशों को […]